सर्दी खांसी के उपाय

मौसम का बदलना वैसे तो बहुत ही खुशगवार होता है, पर स्वास्थ्य के हिसाब से ऐसे समय काफी सजग रहने की जरूरत होती है क्योंकि कई लोगों को इस समय सर्दी, खांसी , जुकाम जैसी समस्याएँ होने लगती है। सर्दी के लक्षणों में खांसी आना , गले में खराश , हल्का बुखार होना, नाक बंद होना , नाक बहना और छींक आना शामिल होता है।

वैसे तो खांसी की समस्या सर्दि‍यों में ज़्यादा होती है, लेकिन यह कई अन्य बीमारियों के कारण भी हो सकती है-

जैसे साधारण सर्दी जुकाम ,

अस्थमा ,

वायरल इन्फेक्शन ,

टीबी,

किसी तरह की एलर्जी

आपकी खांसी का प्रकार आपको इसके कारण का संकेत दे सकता हैं।

जैसे- आपकी खांसी कैसी महसूस होती है जैसे गीली या सूखी ,

खांसी कब होती है, रात में, खाने के बाद, या व्यायाम करते समय

आपको खांसी कितने समय से चल रही है जैसे १५ दिन से कम है या एक डेढ़ महीने से है या २ महीने से ज्यादा हो गया है।

यदि आपको गीली खांसी है, तो आपको खांसी के साथ मुंह में बलगम आएगा। गीली खाँसी कम से कम 3 सप्ताह या इससे पुरानी हो सकती है और बड़ों में ये 8 सप्ताह से अधिक और बच्चों में 4 सप्ताह तक रह सकती है।

सूखी खांसी अक्सर ज़्यादा मुश्किल होती है और लंबे समय तक बनी रह सकती है। सूखी खांसी में साँस लेने के मार्ग में सूजन या जलन होती है, लेकिन बलगम नहीं आता है।

अब बात करते है कुछ घरेलु उपायों के बारे में जिन्हे अपनाकर हमें खांसी में राहत मिल सकती है।

गीली खांसी होने पर बच्चो को सोने से आधे घंटे पहले १चम्मच शहद देने से उसे खांसी में आराम मिलता है और नींद आ जाती है।

बड़ों को गीली खांसी में २-४ दाने काली मिर्च पीस कर १ चम्मच शहद में मिला कर खाना चाहिए।

सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी घोल कर पीना चाहिए। इसका कारण है हल्दी में कर्क्यूमिन नामक तत्त्व का पाया जाना, जिसमे एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण को खत्म करने में हमारी मदद करता है , इससे सर्दी खांसी से राहत मिलती है।

सूप , चाय और कॉफ़ी जैसी गर्म तरल पदार्थ गले में खराश और खरोंच को तुरंत राहत प्रदान करते हैं।

नमक पानी का गरारा भी सूखी खांसी में राहत देता है इसके लिए आपको १ गिलास गुनगुने पानी में चुटकी भर नमक डाल कर उससे गरारा करें। इसे आपको दिन में कई बार करना होता है।

सुबह खाली पेट एक गिलास हल्दी वाला गर्म पानी पियें इससे आपका इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और इन्फेक्शन जल्दी ख़त्म होता है।

अदरक के रस को हल्का सा गर्म करके उसे शहद के साथ मिला कर खाने से भी सूखी खांसी में आराम मिलता है।

दालचीनी , लोंग ,अदरक , काली मिर्च और तुलसी के पत्तो को चाय में डाल कर काढ़ा पियें।

मुलेठी की चाय पीने से सूखी खांसी में आराम मिलता है। इसके लिए दो बड़ी चम्मच मुलैठी की सूखी जड़ को एक मग में रखें और इस मग में उबलता हुआ पानी डालें। 10-15 मिनट तक रखें। दिन में दो बार इसे लें। आप रेडीमेड मुलेठी चाय भी ले सकते हैं।

पीपल की गांठ को भी सूखी खांसी में लाभकारी माना गया है। इसके लिए एक पीपल की गांठ को पीस लें और उसे एक चम्मच शहद में मिलाकर खा लें या फिर पीपल की छाल का पाउडर लें। इससे कुछ ही दिन में सूखी खांसी ठीक हो जाएगी।

यदि खांसी काफी समय से चल रही है तो उसके लिए आप गिलोय के रस को 2 चम्मच पानी में डाल कर रोजाना सुबह पियें ।इससे धूम्रपान, प्रदूषण या पराग से एलर्जी के कारण होने वाली खांसी में राहत मिलती है।

इसके अलावा खुद को हाइड्रेट रखें , ज़्यादा से ज़्यादा गर्म चीज़ो का सेवन करें ,

आधा चम्मच शहद में, नींबू की कुछ बूंद और एक चुटकी दालचीनी मिलाकर लें।

खाने में उन चीज़ो को शामिल करें जिनसे जिंक मिलता है जैसे साबुत अनाज, टोफू , फलियां, नट्स और बीज,फोर्टिफाइड ब्रेकफास्ट अनाज और डेयरी उत्पाद।

वैसे तो इनसब उपायों को अपनाकर आप सर्दी खांसी से आसानी से छुटकारा पा सकते है लेकिन यदि आपको इन सब उपायों से आराम नहीं मिल रहा है तो आपको डॉक्टर की सलाह ज़रूर लेनी चाहिए।

Subscribe

Published by

healthyme happyme

अगर अच्छा स्वस्थ्य आपकी मंज़िल है तो हम आपके इस सफर में आपके साथी है आप कैसा महसूस कर रहे हैं ये आपके हर दिन पे प्रभाव डालता है तो हम आपके साथ हैं आपके मार्गदर्शन के लिए और आपको प्रोत्साहित करने के लिए। आपका स्वस्थ्य आपके हाथ। HealthyMeHappyMe आपके स्वास्थय और शारीरिक क्षमताओं को और भी बेहतर बनाने के लिए आपकी मदद करता है।

Leave a Reply