सीने में दर्द

सीने में दर्द या छाती में दर्द वैसे तो काफी आम समस्या है लेकिन इसको नजरंदाज नहीं किया जाना चाहिए। सीने में दर्द अचानक ही होता है और यह दर्द अलग अलग प्रकार का हो सकता है जैसे सीने में दबाव महसूस होना या जलन, चुभन जैसा महसूस होना ।कभी कभी यह दर्द गर्दन या हाथो तक जाता है।

सीने में दर्द के पीछे कई कारण हो सकते है जैसे गैस या अपच , मांसपेशियों में खिचाव , सांस से सम्बंधित परेशानी या फिर हृदय रोग । क्योंकि सीने में दर्द एक गंभीर समस्या का संकेत देता है, इसलिए तत्काल चिकित्सा सहायता लेना महत्वपूर्ण है।

दिल से संबंधित सीने में दर्द

हालाँकि सीने में दर्द को हम हार्ट अटैक से जोड़ देते है मगर जिनको हार्ट अटैक होता है उनका कहना है की उन्हें सीने में तकलीफ तो होती है मगर उसे सिर्फ दर्द नहीं कहा जा सकता।

सामान्य तौर पर, दिल का दौरा या किसी अन्य दिल की समस्या हो जाने पर कुछ इस प्रकार के लक्षण दिखाई देते है जैसे छाती में दबाव या जकड़न महसूस होना, छाती में तीव्र दर्द होने के साथ-साथ पीठ, गर्दन, जबड़े, कंधे और भुजाओं तक दर्द महसूस होना, दर्द कुछ देर अधिक रहना फिर कम हो जाना फिर बार-बार वापसआना, सांस लेने में कठिनाई होना, पसीना आना और ठण्ड लगना, चक्कर आना या कमजोरी महसूस करना , उलटी अथवा मितली आना।

अन्य प्रकार के सीने में दर्द

हालांकि दिल से संबंधित छाती के दर्द को अन्य प्रकार के सीने में दर्द से अलग करना मुश्किल है पर हम ऐसे लक्षणों को देख सकते है जो दिल की बीमारी से नहीं जुड़े है जैसे मुंह में खट्टापन महसूस करना, निगलने में परेशानीहोना , सीने में दर्द का बढ़ना या घटना और शारीरिक हलचल से दर्द कम हो जाना, जोर से छींकने या खांसने पर सीने में दर्द होना या सीने में कई घंटों तक लगातार दर्द महसूस होना ।

सीने में दर्द के कारण

सीने में दर्द के कई संभावित कारण होते है, जिनमें से सभी को चिकित्सा की आवश्यकता होती है।

दिल से संबंधित कारण

सीने में दर्द के दिल से संबंधित कारणों में शामिल हैं:
दिल का दौरा -यह हृदय की मांसपेशियों में अच्छे से ब्लड सप्लाई न होने या ब्लड फ्लो में किसी रूकावट की वजह से होता है।

एनजाइना – एनजाइना सीने में दर्द के लिए शब्द है जो हृदय में रक्त प्रवाह में गड़बड़ी के कारण होता है।यह अकसर धमनियों की आंतरिक दीवारों पर कोलेस्टेरोल के अधिक होने के कारण होता है ये धमनिया रक्त को हृदय में ले जाती हैं। कोलेस्टेरोल के ज्यादा या फिर गाढ़े होने से ये धमनियों को संकीर्ण कर देते हैं और विशेष रूप से परिश्रम के दौरान हृदय में रक्त आपूर्ति में अवरोध पैदा करते हैं।

पेरिकार्डिटिस दिल के आसपास की थैली की सूजन है। जब आप सांस लेते हैं या जब आप लेटते हैं तो तेज दर्द का एहसास होता है जो समय के साथ और बदतर हो जाता है।

पाचन संबंधी कारण

पाचन तंत्र या डाइजेस्टिव सिस्टम में खराबी के कारण भी सीने में दर्द हो सकता है, जैसे एसिडिटी की समस्या जिसमे एसिड ज्यादा बनने की वजह से सीने में जलन महसूस होती है, इसके आलावा एसोफैगस में किसी विकार के कारण खाना निगलने में परेशानी होने से भी सीने में चुभन या दर्द महसूस होता है । गॉलब्लेडर की सूजन पेट दर्द का कारण बन सकती है जो आपकी छाती तक पहुंच जाती है।

अन्य कारण

पैनिक अटैक – सीने में दर्द के साथ अचानक से किसी चीज़ का भय होना, तेज़ धड़कन, तेज़ साँस आना, पसीना आना, सांस में तकलीफ, मितली, चक्कर आना, ये सब पैनिक अटैक के संकेत है।

Subscribe

Published by

healthyme happyme

अगर अच्छा स्वस्थ्य आपकी मंज़िल है तो हम आपके इस सफर में आपके साथी है आप कैसा महसूस कर रहे हैं ये आपके हर दिन पे प्रभाव डालता है तो हम आपके साथ हैं आपके मार्गदर्शन के लिए और आपको प्रोत्साहित करने के लिए। आपका स्वस्थ्य आपके हाथ। HealthyMeHappyMe आपके स्वास्थय और शारीरिक क्षमताओं को और भी बेहतर बनाने के लिए आपकी मदद करता है।

One thought on “सीने में दर्द”

Leave a Reply